डिस्कवर एसपीएमसीआईएल

मानवीय संसाधन

योजना के तहत मृतक कर्मचारी के पति/पत्नी/कानूनी वारिस द्वारा एकमुश्त मुआवजे का दावा करने के लिए आवेदन पत्र

अनुकंपा के आधार पर नियुक्ति के लिए आवेदन

कार्यस्थल पर महिलाओं के यौन उत्पीड़न (रोकथाम, निषेध और निवारण) अधिनियम, 2013 के तहत आंतरिक शिकायत समिति (आईसीसी) का गठन

एसपीएमसीआईएल कर्मचारी भविष्य निधि का स्वैच्छिक अंशदान प्रपत्र

डिस्कवर एसपीएमसीआईएल

होशंगाबाद और देवास में विकलांग लोगों के लिए एड्स और कृत्रिम अंगों का वितरण

  • उत्तराखंड आपदा के लिए प्रधान मंत्री राष्ट्रीय राहत कोष में ₹1.00 करोड़ की राशि का योगदान।

  • फैलिन चक्रवात में राहत और पुनर्वास गतिविधियों के लिए बिहार मुख्यमंत्री राहत कोष में ₹50.00 लाख का योगदान।

  • फैलिन चक्रवात में राहत और पुनर्वास गतिविधियों के लिए ओडिशा के मुख्यमंत्री राहत कोष में ₹50.00 लाख का योगदान।

                    

  • होशंगाबाद (म.प्र.) में पर्यावरण संरक्षण हेतु नर्मदा पट्टी के निकट वृक्षारोपण की परियोजना कुल ₹ 1.19 करोड़ की लागत से प्रारम्भ की गई है, जिसमें से ₹ ​​50.00 लाख वर्ष 2012-13 में तथा वर्ष 2013-14 के दौरान ₹33,14,445/- व्यय की गई है।

  • ₹23,00,000/- की लागत से बीएनपी, देवास कार्यालय भवन के 1/3 आच्छादित क्षेत्र में वर्षा जल संचयन प्रणाली प्रदान की गई।

                   

  • Provided electrostatic oil filtration machine in coining presses, blanking presses and PPL system at IGM, Mumbai at a cost of `15,46,944/- under Sustainable Development       

भटना, केसला, चीतापू और चतरा नामक 4 गांवों में पेयजल की सुविधा प्रदान की गई है।

  • पीने के पानी की सुविधा

नर्मदा किनारे पौधरोपण कार्य 18 जुलाई से शुरू हो गया है।

  • वृक्षारोपण कार्य

दृष्टिबाधित बच्चों के लिए "सहयोग" को स्कूल बस उपलब्ध कराई गई है

  •  स्कूल बस उपलब्ध कराई गई

 • SPMCIL ने 11 और 12 जुलाई, 2013 को Ni-MSME, हैदराबाद में MSME प्रशिक्षण आयोजित किया है और `2,69,805/- की राशि खर्च की गई है

                     

• SPMCIL ने इस वर्ष के दौरान Ni-MSME हैदराबाद के साथ 50 MSME कार्मिकों के लिए रु. 2.63 लाख की लागत से प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया है।


नागरिक सुविधाएं 2012-13
• होशंगाबाद (म.प्र.) में पर्यावरण संरक्षण हेतु नर्मदा पट्टी के समीप वृक्षारोपण की परियोजना पर कुल 1.19 करोड़ रुपये की लागत से कार्य प्रारंभ किया गया है। जिसमें से वर्ष 2012-13 में 50.00 लाख रु व्यय किया गया है।
• एसपीएमसीआईएल ने सागर और गोसाबा में 10 लड़कियों के शौचालय और पश्चिम बंगाल के काकद्वीप में लड़कियों के छात्रावास में एक शौचालय का निर्माण किया है। इस वर्ष के दौरान 23.00 लाख रु व्यय किया गया है।

• SPMCIL ने होशंगाबाद जिले के 4 (चार) गांवों में `6,97,160/- की लागत से सोलर लाइटिंग सिस्टम प्रदान किया है।

• एसपीएमसीआईएल ने सोलर एलईडी स्ट्रीट लाइटिंग प्रदान की है • SPMCIL ने सतत विकास के तहत `20,73,273/- की लागत से IGM, कोलकाता में सोलर LED स्ट्रीट लाइटिंग प्रदान की है।

• SPMCIL ने मध्य प्रदेश के मल्लूपुरा, होशंगाबाद जिले में 1.23 लाख रुपये की लागत से सोलर लैम्प उपलब्ध कराया है।

 

• एसपीएमसीआईएल ने 547,000/ रुपये की लागत से देवास (मध्य प्रदेश) के पास मुदुका गांव में पीने के पानी की सुविधा प्रदान की है।
• SPMCIL ने महाराष्ट्र के त्रंबकेश्वर जिला नासिक के निकट अधारतीरथ आधाराश्रम को 10.83 लाख रुपये की लागत से पीने के पानी की सुविधा भी प्रदान की है।
• SPMCIL ने जिला होशंगाबाद (मध्य प्रदेश) के केसला ब्लॉक के छीतापुरा, भटाना, जलीखेरा और चटुआ नाम के 4 गांवों में कुल 16.00 लाखड रुपये की लागत से पेयजल सुविधा उपलब्ध कराई है।

• एसपीएमसीआईएल ने CPWD के माध्यम से देवास (एमपी) में लैंड स्केपिंग सहित सड़क के किनारे की सुविधाओं के साथ-साथ 59.71 लाख रुपये की लागत से बीएनपी राधागंज गेट से भोपाल चौराहा तक पहुंच मार्ग की व्यापक मरम्मत का कार्य किया है।
• यू.एस. जिमखाना, आईएसपी को नासिक पुणे हाईवे और नासिक में जेल रोड साइड से जोड़ने वाली सड़क के लिए सड़क के किनारे सुविधाओं के सुधार के संबंध में अतिरिक्त कार्य भी नासिक के संभागीय आयुक्त के माध्यम से रु. 19.00 लाख की लागत से किया गया है।
• एसपीएमसीआईएल ने दृष्टिबाधित बच्चों के लिए सहयोग विशेष आवासीय विद्यालय होशंगाबाद (एमपी) को 16 सीटर बस प्रदान की है। 9.15 लाख।

• सीएसआर पहल के एक भाग के रूप में एसपीएमसीआईएल ने पिछड़े क्षेत्रों में बालिकाओं पर विशेष ध्यान देते हुए शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए 19.10.2010 को भारती फाउंडेशन के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। समझौता ज्ञापन के अनुसार, भारती फाउंडेशन द्वारा भूमि प्रदान की गई और एसपीएमसीआईएल ने पश्चिम बंगाल के जिला मुर्शिदाबाद में 9 (नौ) प्राथमिक विद्यालयों का निर्माण किया। एसपीएमसीआईएल ने गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की सुविधा के लिए फर्नीचर और उपकरणों के लिए आवश्यक धन भी उपलब्ध कराया है। एसपीएमसीआईएल ने वर्ष 2010-11, 2011-12, 2012-13 और 2013-14 के दौरान क्रमशः 102.52 लाख, 293.19 लाख, 102.25 लाख और 7.38 लाख का व्यय किया है।


• अब तक 1601 छात्र प्री-प्राइमरी, कक्षा I, II और III में पढ़ रहे हैं, जिसमें 51.19% लड़कियां और 48.81% लड़के शामिल हैं।


• सीएसआर पहल के एक भाग के रूप में एसपीएमसीआईएल ने भारती फाउंडेशन के साथ 19.10.2010 को पिछड़े क्षेत्रों में बालिकाओं पर विशेष ध्यान देते हुए शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। समझौता ज्ञापन के अनुसार, भूमि भारती फाउंडेशन द्वारा प्रदान की गई थी और एसपीएमसीआईएल ने पश्चिम बंगाल के जिला मुर्शिदाबाद में 9 (नौ) प्राथमिक विद्यालयों का निर्माण किया है। एसपीएमसीआईएल ने गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की सुविधा के लिए फर्नीचर और उपकरणों के लिए आवश्यक धन भी उपलब्ध कराया है। एसपीएमसीआईएल ने वर्ष 2010-11, 2011-12, 2012-13 के दौरान क्रमश: 102.52 लाख रुपये, 293.19 लाख रुपये और 102.25 लाख रुपये का व्यय किया है।


• अब तक 1309 छात्र प्री-प्राइमरी, कक्षा I, II और III के स्कूलों में पढ़ रहे हैं, जिसमें 51.91% लड़कियां और 48.81% लड़के शामिल हैं।

• एसपीएमसीआईएल ने इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी के माध्यम से महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में ग्रामीण स्वास्थ्य सेवाओं के लिए `15.00 लाख की मोबाइल वैन प्रदान की है, जिसमें से `7,50,000 की राशि 2012-13 के दौरान और `7,19,733/- की राशि 2012-13 के दौरान खर्च की गई थी 2013-14।

•  एसपीएमसीआईएल ने होशंगाबाद जिले में `27,01,800/- की लागत से अक्षय पात्र फाउंडेशन को मेडक (एपी) में 4 खाद्य वितरण वाहन प्रदान किए हैं।

• एसपीएमसीआईएल ने ₹15,15,137/- की लागत से एलिम्को, कानपुर के माध्यम से विकलांग व्यक्तियों को सहायता और उपकरण प्रदान किए हैं।

• एसपीएमसीआईएल ने नारायण सेवा संस्थान, उदयपुर के माध्यम से ₹17,00,000/- की लागत से पोलियो प्रभावित 500 बच्चों के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की है। 

•     SPMCIL has provided Ultra Sound Scanner to Rama Krishna Mission Rajahmundry East Godavari District of (AP) at a cost of Rs. 27.00 lacs.

•    SPMCIL has also provided Mobile VAN for rendering of health service in the rural area through Indian Red Cross Society Mumbai at a cost of Rs.15.00 lacs. Out of ` Rs. 15 lacs a sum of Rs. 7.50 lacs has already been released during the year 2012-13 and balance amount will be spent during 2013-14.

• एसपीएमसीआईएल ने इंडियन रेड क्रॉस सोसाइटी के माध्यम से महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में ग्रामीण स्वास्थ्य सेवाओं के लिए `15.00 लाख की मोबाइल वैन प्रदान की है, जिसमें से `7,50,000 की राशि 2012-13 के दौरान और `7,19,733/- की राशि 2012-13 के दौरान खर्च की गई थी 2013-14।

•  एसपीएमसीआईएल ने होशंगाबाद जिले में `27,01,800/- की लागत से अक्षय पात्र फाउंडेशन को मेडक (एपी) में 4 खाद्य वितरण वाहन प्रदान किए हैं।

• एसपीएमसीआईएल ने ₹15,15,137/- की लागत से एलिम्को, कानपुर के माध्यम से विकलांग व्यक्तियों को सहायता और उपकरण प्रदान किए हैं।

• एसपीएमसीआईएल ने नारायण सेवा संस्थान, उदयपुर के माध्यम से ₹17,00,000/- की लागत से पोलियो प्रभावित 500 बच्चों के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की है। 

डिस्कवर एसपीएमसीआईएल

डिस्कवर एसपीएमसीआईएल

प्रतिभूति कागज कारखाना, नर्मदापुरम (मध्य प्रदेश)
आरटीआई जवाब 2021-22 

प्रतिभूति कागज कारखाना, नर्मदापुरम (मध्य प्रदेश)

आरटीआई जवाब 2020-21

 

प्रतिभूति कागज कारखाना, नर्मदापुरम (मध्य प्रदेश)

प्रतिभूति कागज कारखाना, नर्मदापुरम (मध्य प्रदेश)

वर्ष 2021-22 के लिए प्राप्त एवं निस्तारित प्रकरण

प्रतिभूति कागज कारखाना, नर्मदापुरम (मध्य प्रदेश)

वर्ष 2020-21 के लिए प्राप्त एवं निस्तारित प्रकरण

प्रतिभूति कागज कारखाना, नर्मदापुरम (मध्य प्रदेश)

वर्ष 2019-20 के लिए प्राप्त एवं निस्तारित प्रकरण

सूचना - दिसम्बर 06, 2022
प्रतिभूति कागज कारखाना, नर्मदापुरम (मध्य प्रदेश)

प्रतिभूति कागज कारखाना, नर्मदापुरम (मध्य प्रदेश)

कृपया ध्यान दें: आरटीआई आवेदन https://rtionline.gov.in और एसपीएमसीआईएल - एसपीएम, होशंगाबाद को चुनकर ऑनलाइन भी दाखिल किए जा सकते हैं।

प्रतिभूति कागज कारखाना, नर्मदापुरम (मध्य प्रदेश)
सुरक्षा पेपर मिल, नर्मदापुरम (मध्य प्रदेश) में सार्वजनिक उपयोग के लिए कोई पुस्तकालय या वाचनालय नहीं है।

प्रतिभूति कागज कारखाना, नर्मदापुरम (मध्य प्रदेश)
यूनिट की अपनी वेबसाइट http://spmhoshangabad.spmcil.com है

 
प्रतिभूति कागज कारखाना, नर्मदापुरम (मध्य प्रदेश)
इकाई द्वारा कोई रियायत परमिट या प्राधिकरण नहीं दिया जाता है।

प्रतिभूति कागज कारखाना, नर्मदापुरम (मध्य प्रदेश)
सिक्योरिटी पेपर मिल, नर्मदापुरम सिक्योरिटी प्रिंटिंग एंड मिंटिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड की एक इकाई है, और इस तरह इस यूनिट को एसपीएमसीआईएल कॉर्पोरेट कार्यालय द्वारा बजट आवंटित किया जाता है।

 
प्रतिभूति कागज कारखाना, नर्मदापुरम (मध्य प्रदेश)
ऊपर पैरा (ii) के तहत दिए गए अधिकारियों की सूची।


प्रतिभूति कागज कारखाना, नर्मदापुरम (मध्य प्रदेश)
वर्क्स कमेटी, सेफ्टी कमेटी, कैंटीन मैनेजिंग कमेटी, लेबर वेलफेयर कमेटी जैसी विभिन्न समितियाँ अस्तित्व में हैं, जिनके कार्यवृत्त जनता के लिए सुलभ हो सकते हैं

प्रतिभूति कागज कारखाना, नर्मदापुरम (मध्य प्रदेश)
यूनिट द्वारा रखे जा रहे दस्तावेजों की विभिन्न श्रेणियां नीचे दी गई हैं:

1. कर्मचारियों के विवरण वाले दस्तावेज
2. स्थापना मामलों से संबंधित विभिन्न आंतरिक नीतियां, नियम और विनियम
3. कर्मचारियों की निष्पादन मूल्यांकन रिपोर्ट
4. डीपीई दिशानिर्देशों के अनुपालन से संबंधित फाइलें और रिकॉर्ड
5. सीडीए नियम 2020
6. खरीद नियमावली 2010
7. आयकर के भुगतान, स्रोतों पर कर कटौती आदि से संबंधित दस्तावेज।
8. वाउचर, आदि।
9. माननीय न्यायालयों, न्यायाधिकरणों आदि को प्रस्तुत याचिका, वाद, लिखित बयान और अन्य दस्तावेज


प्रतिभूति कागज कारखाना, नर्मदापुरम (मध्य प्रदेश)
सिक्योरिटी पेपर मिल, सिक्योरिटी प्रिंटिंग एंड मिंटिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (SPMCIL) की एक इकाई है, जो पूरी तरह से सरकार के स्वामित्व में है। भारत सरकार, वित्त मंत्रालय; सरकार द्वारा बनाए गए और घोषित किए गए सभी नियम और विनियम। भारत सरकार / SPMCIL का कर्मचारियों द्वारा अपने कर्तव्यों के निर्वहन के लिए पालन और पालन किया जाता है।


प्रतिभूति कागज कारखाना, नर्मदापुरम (मध्य प्रदेश)
सके कामकाज के निर्वहन के लिए मानक उपलब्ध संसाधनों के अधीन संगठन और एसपीएमसीआईएल, कॉर्पोरेट कार्यालय की आवश्यकता के बदले में सामूहिक विचार-विमर्श द्वारा निर्धारित किए जाते हैं।

 
प्रतिभूति कागज कारखाना, नर्मदापुरम (मध्य प्रदेश)
सिक्योरिटी पेपर मिल में निर्णय लेने की प्रक्रिया भारत सरकार/एसपीएमसीआईएल द्वारा बनाए गए विभिन्न नियमों और विनियमों पर आधारित है। हालाँकि, विभिन्न निर्णय लेने की शक्तियाँ उन नियमों के प्रावधानों के आधार पर संबंधित अधिकारियों को सौंपी गई हैं और वे न केवल अपने अधीनस्थों के माध्यम से उन शक्तियों का प्रयोग करते हैं, बल्कि उन शक्तियों के उपयोग के लिए जवाबदेह भी हैं।

प्रतिभूति कागज कारखाना, नर्मदापुरम (मध्य प्रदेश)
सिक्योरिटी पेपर मिल (एसपीएम), होशंगाबाद की स्थापना वर्ष 1968 में हुई थी। यह बैंक नोटों और गैर-न्यायिक स्टाम्प पेपरों के लिए विभिन्न प्रकार के सुरक्षा पेपर बनाती है। इस इकाई द्वारा निर्मित सुरक्षा कागज का उपयोग अन्य SPMCIL इकाइयों द्वारा मुद्रा/बैंक नोटों और गैर-न्यायिक टिकटों की छपाई के लिए किया जाता है। एसपीएम, होशंगाबाद को सुरक्षा पेपर में कई सुरक्षा विशेषताओं को शामिल करने का गौरव प्राप्त है।

यह प्रेसों द्वारा निर्दिष्ट महत्वपूर्ण मापदंडों की बारीकी से निगरानी और नियंत्रण करता है और निरंतर प्रक्रिया प्रणाली, यानी स्टॉक तैयारी, पेपर मेकिंग, कैलेंडरिंग, कटिंग और फिनिशिंग प्रक्रिया में लगा हुआ है। कागज की गुणवत्ता संगठन के लिए एक महत्वपूर्ण कारक है जो बहुत ही उच्च सुरक्षा वातावरण में पूरा किया जाता है। सिक्योरिटी पेपर मिल, होशंगाबाद को परीक्षण और अंशांकन प्रयोगशालाओं (एनएबीएल) के लिए राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड द्वारा आईएसओ/आईईसी 17025:2017 प्रमाणीकरण के साथ मान्यता प्राप्त है। यह एक ISO 9001:2015, 14001:2015 और 45001:2018 प्रमाणित संगठन भी है

कैरियर

Recruitment Related Query: recruitmentcell@spmcil.com

एसपीएम, नर्मदापुरम में अनुबंध के आधार पर चिकित्सा अधिकारी की नियुक्ति

प्रकाशित : जनवरी 07, 2022
यूनिट : सिक्योरिटी पेपर मिल, नर्मदापुरम
 

Advt No. 02/2022: Engagement of One Consultant (IT) and One Consultant (Gold Trading/Hedging)

Published on             :       Jul 25, 2022
Unit                             :       एसपीएमसीआईएल, कॉर्पोरेट कार्यालय, नई दिल्ली
Last Date                    :       Aug 27, 2022

Supplier Registration

Registration No.
Click or drag a file to this area to upload.
GST No
Click or drag a file to this area to upload.
PAN No
Click or drag a file to this area to upload.

Director Detail

Firm Detail

=